शहर और राज्य

जल निगम के कर्मचारियों ने सरकार से की वेतन की मांग

गाजीपुर। मुख्यमंत्री एवं नगर विकास मंत्री से उत्तर प्रदेश जल निगम कर्मचारी महासंघ ने विगत तीन महीने का वेतन कर्मचारियों को देने का अनुरोध किया है। जनपद इकाई गाजीपुर के पूर्व जिलाध्यक्ष देवेंद्र कुमार मौर्य द्वारा सरकार से अनुरोध किया गया है कि जल निगम कर्मचारियों का माह मार्च-अप्रैल मई लगभग माह पूरा होने को है, वेतन न मिलने से कर्मचारी भुखमरी के कगार पर आ गये है शासन के निर्देशानुसार हम लोग कर्मचारी कार्य कर रहे हैं और गाजीपुर जिलाधिकारी महोदय के निर्देशानुसार रेलवे स्टेशन पर जो मजदूर बाहर से लाए जा रहे हैं उनकी सुरक्षा में ड्यूटी लगाई गई है जो कर्मचारी अपनी जान जोखिम में डालकर जान की परवाह ना कर सरकार की नीतियों पर हम लोग कार्य कर रहे हैं और हम लोग की वेतन विसंगति जल निगम के एमडी विकास गोठवाल ने इस करोना जैसे महामारी के समय में वेतन विसंगतियां परिवर्तित करने के लिए और कर्मचारियों का मनोबल तोड़ने के लिए इनके द्वारा गलत किया जा रहा है जो ठीक नहीं है। इस समय विश्व के करोना जैसे महामारी के समय में पूरे देश परेशान है जल निगम के एमडी विकास गोठवाल कर्मचारियों के मनोबल तोड़ने में लगे हैं जो यह ठीक नहीं है उत्तर प्रदेश जल निगम कर्मचारी महासंघ उत्तर प्रदेश लखनऊ के प्रांतीय अध्यक्ष एसके सिंह और महामंत्री आकाश श्रीवास्तव जी ने इस संबंध में मुख्यमंत्री और नगर विकास मंत्री और चेयरमैन को पत्र लिखा जा चुका है कर्मचारी का मनोबल तोड़ा जा रहा है जल निगम कर्मचारियों के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है जोकि सरकार का नियत कर्मचारी के प्रति ठीक नहीं है जो कि प्रधान मंत्री बार-बार पुलिस विभाग स्वास्थ्य कर्मी सफाई कर्मी और सभी विभाग को उनके द्वारा कर्मचारियों का परसोहन किया जा रहा है वही जल निगम का वेतन 3 माह से ना मिलना जल निगम के कर्मचारी का मनोबल तोड़ना जल निगम के कर्मचारी का भुखमरी कगार पर लाना सरकार कर्मचारी के प्रति सौतेला व्यवहार करना जो की ठीक नहीं मैं माननीय मुख्यमंत्री जी से एक बार फिर अनुरोध करना चाहता हूं कि जल निगम कर्मचारियों का वेतन समय से रिलीज किया जाए और वेतन विसंगतिया जो हमारे जल निगम के एमडी द्वारा गलत किया जा रहा है उसको रोका जाए और देश के प्रति जब आफत आएगी तब तक कर्मचारी आपके साथ साथ रहेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *