शहर और राज्य

गरीबों का राशन डकारने से नही आ रहे कोटेदार बाज,पूर्ति विभाग की भूमिका संदिग्ध

मरदह।सरकारी सस्ते गल्ले के दुकान पर राशन लेने के चक्कर लगाते-लगाते थक गये कार्ड धारक तो आ गए आक्रोश में,अपने राशन पाने के लिए
दुकानदार से तू – तू मै – मै होने लगा इस बात की खबर अन्य लोगों को हुई तो सैकड़ों कि संख्या में महिला पुरुष इकट्ठा हो गए।दल बल के साथ मौके पर पहुंचे उप जिलाधिकारी ने समझा बुझाकर मामला शांत कराया।मालूम हो एक तरफ देश में लाकडाउन और कोरोना महामारी तो दूसरी तरफ गरीबों का राशन कोटेदार डकारने से बाज नही आ रहे है।लेकिन पूर्ति बिभाग के अधिकारी कोई कार्यवाही नही कर रहे है।थाना क्षेत्र के स्थानीय गांव में सहायक कोटेदार अनिल सिंह के द्वारा कई महीनों से वितरण में जमकर अनियमितता की जा रही है।यह कहना है गांव के विश्वा देवी,गीता देवी,राधिका देवी,कलावती देवी,सावित्री देवी,आशा देवी,वनी देवी,गुलाबी देवी, मनोरमा देवी,चिंता देवी,कुमारी देवी,दुर्गावती देवी, संतोषी देवी,उषा देवी,लीला देवी,दुर्गा देवी,रीमा देवी,संजू देवी,सुरेन्द्र राजभर,कलावती देवी,बंटी राजभर,राजकुमार राम,आदि लाभार्थियों ने आगे आरोप लगाया कि राशन कोटेदार द्वारा खुलेआम घटतौली तो किया जाता है।साथ ही साथ कई लाभार्थियों को अंगूठा लगाकर राशन नही दिया जाता,जिसको मिलता है उसको दर्जनों बार चक्कर लगाना पड़ता हैै।सोमवार को कोटेदार के दुुकान पर राशन लेने पहुंचे कार्ड धारक तो जब नहीं मिला तो घंटों बवाल काटे,हो हल्ला मचाया व जमकर आरोप लगाया।पर्यवेक्षक के सूचना पर तत्काल मौके पर पहुंचे कासीमाबाद एसडीएम रमेश मौर्य ने ग्रामीणों से शत् प्रतिशत् राशन वितरण करने कि बात पर शांत कराया और कोटेदार के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की बातें कही।आगे कहा किसी भी कीमत पर राशन वितरण प्रणाली में अनियमितता बर्दाश्त नहीं की जाएंगी दोषी के खिलाफ सक्त कारवाई की जाएंगी।सप्लाई इंंपेक्टर संतोष कुमार सिंह के द्वारा पीङित कार्ड धारकों का कलमबद्ध बयान दर्ज कर कारवाई के लिए कासीमाबाद एसडीएम रमेश मौर्य को प्रेषित किया।इस सबंध में सहायक दुकानदार अनील सिंह ने अपने उपर लगे आरोप को सिरे से खारिज किया कहाँ की सभी आरोप बेबुनियाद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *