जुर्म

प्रयागराज में मर्डर के बाद,कोरोना संक्रमण की जांच करने पहुँचे स्वास्थ्यकर्मियों के साथ अभद्रता

प्रयागराज:मध्यप्रदेश के इंदौर में कोरोना संक्रमण की जांच करने पहुँचे स्वास्थ्यकर्मियों के साथ समुदाय विशेष के लोगों द्वारा की गई अभद्रता का मामला अभी ठंडा भी नही हुआ था की रविवार को प्रयागराज में फिर वही कहानी दोहराई गयी। सीएम योगी आदित्यनाथ को कुछ कट्टरपंथी लगातार चुनौती दे रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग तथा पुलिस टीम या फिर कोरोना वॉरियर्स से किसी भी प्रकार की अभद्रता पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) के तहत कार्रवाई के बाद भी लोग इससे बाज नहीं आ रहे हैं।

ताजा मामला प्रयागराज में शहर के करेली थाना अंतर्गत मस्तान नगर मुन्ना मस्जिद के पास रविवार दोपहर का है। यहां स्वास्थ्य विभाग की टीम पर कुछ लोगों ने बुरा भला कहते हुए हमला कर दिया। सिविल डिफेंस के राजीव भनोट ने पुलिस को सूचना दी तो फोर्स पहुंची। इसके बाद स्टाफ नर्स समेत स्वास्थ्य विभाग की टीम में शामिल लोग वहां से बचकर निकल पाए। यह क्षेत्र मुस्लिम बहुल है।

कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर सर्वे टीम बनाई गई है। करेली के गौस नगर सीएचसी पर भी आठ टीम बनी है। हर टीम में महिला एएनएम, पुरुष वार्ड ब्वाय, नर्स हैं। इनमें से छह सदस्यीय एक टीम रविवार को गौस नगर में मुन्ना मस्जिद के पास घरों पर जाकर जानकारी लेने लगी कि परिवार में कोई बीमार तो नहीं है या कोई बाहर से तो नहीं आया। इसी बीच मोहल्ले के 15- 20 लोग अचानक एकत्र हुए और अपशब्द कहते हुए स्वास्थ्य टीम को वहां से जाने के लिए कहा।

आरोप है कि ये लोग टीम के महिला पुरुष सदस्यों से गाली गलौज करने लगे। यहां तक कि डंडे भी मारने के लिए ले आए। भीड़ को हमलावर होता देख पुलिस को सूचना देकर टीम के लोग वहां से हट गए। टीम के सदस्य पंकज ने बताया कि मुस्लिम इलाकों में स्वास्थ्य टीम को लगातार धमकाया और भगाया जा रहा है। लोग न तो जांच कराना चाह रहे हैं और ना सवालों के जवाब देते हैं। इसकी सूचना डिप्टी सीएमओ को दी गई है।

तब्लीगी जमात के लोगों के मानव बम की तरह हरकत करने के बीच मुस्लिम बहुल क्षेत्रों में लोगों की इस तरह की हरकतों के साथ असहयोग के बीच भी सरकार अपने काम में लगी है। लोग अपनी जान की परवाह न करके क्षेत्रों को सैनेटाइज करने के साथ ही लोगों में जरूरी दवा तथा अन्य सामग्री वितरण करने के काम में लगे हैं। बीमार लोगों को उनके घर पर चिकित्सीय सुविधा प्रदान करने गई टीम के साथ प्रयागराज में आज की घटना का मुख्यमंत्री ने संज्ञान लिया है। इससे पहले भी मध्य प्रदेश के इंदौर में स्वास्थ्य विभाग की टीम पर मुस्लिम बहुल क्षेत्र में हमला बोला गया था। उसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि हम उत्तर प्रदेश को इंदौर नहीं बनने देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *