धर्म शहर और राज्य

परिक्रमा पथ के गजेबो से दिखेगी गजब की रामनगरी

डे नाईट न्यूज़ अयोध्या:

रिपोर्टर “ज्योति जयसवाल”

अयोध्या : राममंदिर निर्माण ने देश-दुनिया के पर्यटकों में अयोध्या के प्रति आकर्षण और बढ़ाया है। रामनगरी आने के बाद पर्यटक यहां के नजारे जरूर सहेज कर अपने साथ ले जाना चाहेंगे। इसलिए भी पर्यटन विभाग खास इंतजाम कर रहा है। आने वाले दिनों में रामनगरी के गजेबो (फोटो खिचाने के लिए छतरीनुमा स्थान) में बैठ कर पर्यटक और श्रद्धालु रामनगरी का नजारा देख सकेंगे और कैमरे में कैद कर सकेंगे।

रामनगरी में 20 गजेबो बनाए जा रहे हैं। रामकथा पार्क, तुलसी उद्यान, राजघाट स्थित ऋषभदेव पार्क सहित पंचकोसी परिक्रमा पथ पर इनका निर्माण कराया जा रहा है। सर्वाधिक गजेबो पंचकोसी परिक्रमा मार्ग पर बनेंगे ताकि परिक्रमा में लिए आने वाले श्रद्धालुओं को अच्छा फोटो सेशन प्वाइंट मिल सके। पंचकोसी परिक्रमा रामनगरी के भीतर से होकर गुजरती है। ऐसे में फोटो खींचने के लिए गजेबो काफी बेहतर साबित होगा। यह प्रयोग रामनगरी में पहली बार हो रहा है। एक गजेबो की लागत दस लाख रुपये है। दो करोड़ की लागत से सभी गजेबो बनकर तैयार होंगे। पत्थरों से बन रहे यह गजेबो देखने में भी काफी गजब के हैं। दिसंबर तक सभी गजेबो का निर्माण पूरा कर लिया जाएगा। क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी आरपी यादव की देखरेख में पर्यटन की योजनाएं परवान चढ़ रही हैं। उन्होंने बताया कि रामनगरी को उसकी गरिमा के अनुरूप बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी।
संवारे जाएंगे परिक्रमा पथ के 30 संपर्क मार्ग

पर्यटन विभाग मुख्य परिक्रमा पथ को संवार रहा है तो वहीं परिक्रमा पथ से सटे संपर्क मार्गों की सेहत सुधारने की जिम्मेदारी नगर निगम उठाएगा। 14 कोसी व पंचकोसी परिक्रमा पथ से सटे 30 संपर्क मार्गों को सुदृढ़ीकरण के लिए चिह्नित किया गया है। नगर आयुक्त विशाल सिंह की मंशा रामनगरी के साथ ही परिक्रमा पथ को भी सुव्यवस्थित व आकर्षक बनाने की है। संपर्क मार्गों की नए सिरे से मरम्मत के साथ ड्रेनेज का इंतजाम भी किया जाएगा। योजना पर 40 करोड़ रुपये की लागत आएगी। नगर निगम ने इसका प्रस्ताव तैयार कर लिया है, जिसे पर्यटन विभाग को भेजा जाएगा। जुड़वा शहरों में बंद पड़े फव्वारों को भी पुनर्जीवित किया जाएगा। जल्द ही सर्वे शुरू होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *