धर्म शहर और राज्य

कोर्ट ने यह माना है कि सीबीआई द्वारा लगाए गए आरोपों के खिलाफ ठोस सबूत नहीं।

डे नाईट न्यूज़ अयोध्या:

रिपोर्टर “ज्योति जयसवाल

अयोध्या में विवादित ढांचा विध्वंस के 28 साल बाद सीबीआई कोर्ट द्वारा भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी सहित सभी आरोपियों को बरी किए जाने पर राम की नगरी में जश्न का माहौल है। फैसले के बाद भाजपा कार्यकर्ता व संतों ने जय श्री राम के नारे लगाए और मिठाइयां बांटी।
संतों ने खुशी जताते हुए कहा कि मामले में न्याय हुआ है। सत्य की जीत हुई है। अयोध्या में राम मंदिर बन रहा है और अब सभी को बरी कर दिया गया है। यह सब राम की कृपा से ही संभव हो सका है।
बता दें कि ढांचा विध्वंस मामले में भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, उमा भारती, विनय कटियार समेत 32 लोग आरोपी थे। कोर्ट ने अपने फैसले में सभी 32 आरोपियों को बरी कर दिया है।
कोर्ट ने यह माना है कि सीबीआई द्वारा लगाए गए आरोपों के खिलाफ ठोस सबूत नहीं। कुछ अराजक तत्वों ने इस कार्य को अंजाम दिया था।
फैसला सुनने के लिए पूर्व उप प्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी, पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी, पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह व पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती कोर्ट में मौजूद नहीं थे। इन सभी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए फैसला सुना। (जश्न मनाते साधु संत।)
संतों ने जय श्री राम के नारे लगाए और कहा कि अब अयोध्या का विकास होगा। सारे मामलों का निपटारा हो चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *