धर्म शहर और राज्य

राम मंदिर का निर्माण शुरू, जल्द तैयार होगा बुनियादी ढांचा

डे नाईट न्यूज़ अयोध्या:
रिपोर्टर “ज्योति जयसवाल”

अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए बुनियाद की खुदाई का काम शुरू हो चुका है। खुदाई से पहले काम में लगी मशीनों का विधिवत पूजन किया गया। खोदी जा रही पहली बुनियाद में परीक्षण के तौर पर पाइलिंग का काम भी शुरू कर दिया गया है। माना जा रहा है कि 24 घंटे में राम मंदिर के पहले पिलर का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। इसके बाद गुणवत्ता और भार का परीक्षण किया जाएगा। जानकारी के साथ श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय ने कहा कि राम मंदिर निर्माण को लेकर प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इसके तहत शुक्रवार को दोपहर 3 बजे मशीन से 100 फीट का गड्ढा खोदकर परीक्षण के तौर पर पहला प्रयोग किया जा रहा है।

अयोध्या राम मंदिर की बाउंड्री का डबल बैरीकेडिंग स्पेस बनेगा ग्रीन बेल्ट, रामायण काल के 89 वृक्षों की प्रजातियां चुनी गईं

राम मंदिर परिसर की बाउंड्री के चारों तरफ डबल बैरीकेडिंग के बीच खाली जगह को ग्रीन बेल्ट बनाया जाएगा। यह खाली जगह 10 मीटर की होगी। वन विभाग इसखाली जगह का प्रयोग वृक्ष लगाकर करेगा।
चंपत राय ने बताया कि शायद गड्ढे में पहले कंक्रीट डालेंगे और उसके बाद उसका अध्ययन किया जाएगा कि वह कितना मजबूत है या फिर उसकी मजबूती को बढ़ाने के लिए और क्या करना होगा। इसकी जानकारी विशेषज्ञ लोग ही दे पाएंगे। परीक्षण की रिपोर्ट आने के आधार पर ही आगे की प्रक्रिया शुरू हो सकेगी।

स्वीकृत हुए मानचित्र के अनुरूप राम मंदिर बनाने के लिए 1200 स्थानों पर पर 1 मीटर चौड़े और 200 फीट गहरे पिलर तैयार होने हैं। परीक्षण के तौर पर ही सही लेकिन राम मंदिर निर्माण की प्रक्रिया का श्रीगणेश हो चुका है और उम्मीद जताई जा रही है कि यदि सब कुछ सफल रहा तो जल्द ही राम मंदिर निर्माण के बुनियादी ढांचे का स्वरूप दिखाई देगा।

सूत्रों के मुताबिक, एलएनटी कंपनी का मानना है कि पिलर जितना पानी के अंदर रहेगा मजबूती के लिहाज से उतना अच्छा होगा। जिस स्थान पर राम मंदिर का निर्माण हो रहा है उसके आसपास 55 फीट की गहराई में जल स्तर है। इसी वजह से पिलर को ऐसे गलाया जाएगा जैसे नदियों में पुल के खंभे गलाए जाते हैं। इसमें प्रयोग किए जाने वाली सीमेंट और कंक्रीट भी आईआईटी चेन्नै की रीसर्च टीम तय करेगी। इस सब के बावजूद औपचारिक ही सही लेकिन राम मंदिर निर्माण की शुरुआत हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *